Mutual Fund क्या है? Mutual Fund कैसे काम करता है?

क्या आप भी म्यूच्यूअल फण्ड में इन्वेस्ट करना चाहते है और आपको म्यूच्यूअल फण्ड में बारे में कुछ भी पता नहीं है आप नहीं जानते है की म्यूच्यूअल फण्ड क्या है? और आप इंटरनेट पर Mutual Fund In Hindi सर्च कर रहे है तो आप बिलकुल ठीक जगह पर आए है इस आर्टिकल में आपको म्यूच्यूअल फण्ड के बारे में तमाम जानकारी मिलेगी। जिससे आप म्यूच्यूअल फण्ड को बहुत ही अच्छी तरह समझ जाएंगे।

इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपके म्यूच्यूअल फण्ड से संबधित सारे सवालों के जवाब मिल जाएंगे। बस आपको यह आर्टिकल पूरा पढ़ना है। म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने से पहले आपको म्यूच्यूअल फण्ड के बारे में अच्छी तरह पता होना चाहिए। जिससे भविष्य में आपको कभी कोई दिक्कत का सामना न करना पड़े।

तो म्यूच्यूअल फण्ड को हम स्टेप बाय स्टेप समझेंगे। सबसे पहले हम देखेंगे की म्यूच्यूअल फण्ड क्या होता है? उसके बाद देखेंगे की म्यूच्यूअल फण्ड कैसे काम करता है? इसके बाद म्यूच्यूअल फण्ड के फायदे क्या होते है? इसके बाद हम म्यूच्यूअल फण्ड के FAQ’s देखेंगे। और यह वह सवाल हो सकते है जो आपके मन में भी आते हो। तो इससे आपके मन की सारी दुविधा म्यूच्यूअल फण्ड को लेकर खत्म हो जाएगी।

Mutual Fund क्या है?

एक म्यूचुअल फंड तब बनता है जब विभिन्न निवेशकों द्वारा एकत्र की गई पूंजी को कंपनी के शेयर, स्टॉक या बॉन्ड खरीदने में निवेश किया जाता है। हजारों निवेशकों द्वारा इक्कठा किए गए, म्यूचुअल फंड निवेश को सामूहिक रूप से एक पेशेवर फंड मैनेजर द्वारा उच्चतम संभव रिटर्न अर्जित करने के लिए प्रबंधित किया जाता है।

अगर आसान शब्दों में कहूं तो Mutual Fund कई सारे लोगो के पैसे से बना हुआ एक फण्ड होता है जिसे अलग अलग जगह पर निवेश किया जाता है इस पैसे का AMC (Asset Management Company) द्वारा प्रबंध किया जाता है। AMC में अपने अनुभवी और प्रतिभाशाली पेशेवर प्रबंधन होते है जो अपने अनुभव और सुजबुझ से पैसे को सही जगह निवेश करते है।

Mutual Fund कैसे काम करता है?

म्यूच्यूअल फण्ड में बहुत सारे लोग किसी एक कंपनी में पैसा निवेश करते है। यह वह लोग होते है जिन्हे यह पता नहीं होता है की पैसे को कब और कहा निवेश करना चाहिए। ऐसे लोग म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करते है जिससे यह कंपनी इनकी और से बाजार में पैसा निवेश करती है। इसके बाद इस कंपनी पेशेवर फंड मैनेजर मार्किट रिसर्च करके अपने अनुभव के अनुसार पैसे को अलग अलग जगह निवेश करते है कंपनी का मुख्य उदेश्ये होता है की ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमाया जा सके।

mutual funds in hindi

मुनाफा कमाने के बाद यह कंपनी अपनी कमीशन काट कर जो की लगभग एक से डेढ़ प्रतिशत होती है अपने निवेशकों को मुनाफा दे देती है। म्यूच्यूअल फण्ड इसी आधार पर काम करता है।

आइये इसे एक उदहारण से समझते है:-

मान लीजिये आपके पास 25,000 रुपए है जिसे आप मार्किट में निवेश करना चाहते है। अब अगर आप किसी एक कंपनी का शेयर खरीदते है। मान लीजिये आप tata steel कंपनी का शेयर खरीदना चाहते है अब उस कंपनी के शेयर की कीमत 25,000 रुपए है तो ऐसे में आप अपने सारे पैसे से केवल एक ही कंपनी का शेयर खरीद पाएंगे।

ऐसे में कंपनी अगर मुनाफे में जाती है तो आपको ज्यादा मुनाफा होगा। लेकिन अगर कंपनी को नुक्सान होता है तो आपका सारा पैसा डूब जाएगा और इसकी सीधी सीधी वजह है की आपने अपने सारे पैसे को केवल एक ही जगह पर निवेश किया है। इसी से बचने के लिए और risk को कम करने के लिए लोग म्यूच्यूअल फण्ड में पैसा निवेश करते है।

अब अगर आप इसी पैसे को म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करते तो क्या होता। मान लीजिये म्यूच्यूअल फण्ड 100 लोगो से हजार हजार रुपए लेता है और उसके पास 1 लाख रुपए हो गए। अब वह इस 1 लाख रुपए से चार कंपनी में शेयर खरीद सकता है जो की आप बिलकुल भी नहीं कर सकते है।

अब अगर किसी कारणवश किसी एक कंपनी का नुक्सान भी हो गया तो भी तीन कंपनी से होने वाले फायदे से आपके रिटर्न्स काफी अच्छे आएंगे जो की अगर आप direct investment करते तो शायद नहीं आते।

म्यूच्यूअल फण्ड में direct investment से कम रिटर्न्स मिलते है लेकिन इसमें risk भी बहुत कम होता है।

जब म्यूच्यूअल फण्ड पैसे को अलग अलग जगह निवेश कर देता है तब वह अपने निवेशकों को MF units देता है जिसे आप या कोई भी निवेशक रिडीम करके अपने पैसे को निकाल सकता है। इन यूनिट के आधार पर ही कोई भी AMC अपने निवेशकों में पैसे को बांटती है।

Mutual Fund के फायदे क्या है?

म्यूच्यूअल फण्ड के बहुत सारे फायदे होते है आज हम इन्ही कुछ फायदों को एक के करके देखेंगे।

mutual funds in hindi

न्यूनतम धन की आवश्यकता (Minimum Funds Requirement) – म्यूच्यूअल फण्ड का सबसे बड़ा फायदा है की इसमें आप कम से कम पैसे में भी निवेश कर सकते हो। आमतौर पर एक आम आदमी हर महीने ज्यादा पैसे बचा नहीं पाता है। तो अगर वह कही पैसे को इन्वेस्ट करने की सोचे भी तो किसी भी जगह पैसे इन्वेस्ट करने के लिए बहुत ज्यादा पैसे की जरूरत होती है।

जबकि म्यूच्यूअल फंड्स में आप 500 रूपये प्रति महीना भी निवेश कर सकते है जो की बहुत अच्छी बात है इससे हर किसी को निवेश करने का अवसर मिलता है।

विविधता (Diversification) – विविधता भी म्यूच्यूअल फण्ड का सबसे बड़ा फायदा है क्योंकि जब आप एक जगह पैसे को निवेश करते है तो आप पूरी तरह से उस क्षेत्र पर भी निर्भर करते है उसके फायदे से आपका फायदा होगा और उसके नुक्सान से आपका नुक्सान होगा। ऐसे में पैसे का जोखिम ज्यादा होता है।

वही अगर आप कई अलग अलग जगह पर अपने पैसे को निवेश करते है तो ऐसे में अगर एक जगह आपको नुकसान भी हो जाए तो भी आप दूसरी जगह पर मुनाफे से उस नुक्सान को खत्म कर सकते है और मुनाफा कमा सकते है।

ठीक यही काम म्यूच्यूअल फण्ड करता है म्यूच्यूअल फण्ड में जब आप पैसे लगाते है तो आपकी कंपनी आपके पैसे को अलग अलग जगह पर निवेश करती है जिससे अंत में आपको मुनाफा ही हो।

पेशेवर प्रबंधन (Professional Management) – आपके द्वारा म्यूच्यूअल फण्ड में इन्वेस्ट किया हुआ पैसा म्यूच्यूअल फण्ड के पेशेवर प्रबंधन द्वारा बाजार में लगाया जाता है। म्यूच्यूअल फण्ड के पेशेवर प्रबंधन मार्किट की अच्छे से रिसर्च करते है और अपने अनुभव के आधार पर आपके पैसे ठीक जगह निवेश करते है जो शायद आप न कर सके।

बाजार में ठीक जगह पैसे निवेश करने के लिए उचित ज्ञान, अनुभव होना और समय होना बहुत जरुरी है जो किसी भी आम आदमी के पास होना मुश्किल होता है। आम आदमी जो प्रतिदिन नौकरी पर जाता है या अपने व्यवसाय को संभालता है उसके पास इन सब बातो के लिए समय या इसका अनुभव नहीं होता है।

ऐसे में जब आप म्यूच्यूअल फण्ड में पैसे लगाते है तो आपके पैसे का म्यूच्यूअल फण्ड के पेशेवर प्रबंधन द्वारा प्रबंधन होता है। ऐसे में आपको चिंता करने की जरूरत नहीं होती है आप अपना ध्यान पैसा कमाने में लगा सकते है और म्यूच्यूअल फण्ड के पेशेवर प्रबंधन को अपना पैसा बढ़ाने में लगा सकते है।

समय की बचत (Time Savings) – म्यूच्यूअल फण्ड एक समय बचाने वाला निवेश है। इसमें आपको निवेश करने के लिए अपने दिनचर्या में से अतिरिक्त समय देने की जरुरत नहीं है। अगर आप स्टॉक मार्किट में निवेश करते है तो उसके लिए आपको मार्किट के उतार चढ़ाव पर नियमित रूप से नज़र रखनी होती है और शेयर खरीदने और बेचते समय मार्किट पर रिसर्च करने में बहुत समय लगता है जबकि म्यूच्यूअल फण्ड में आपको एक बार पैसा लगाना है और फिर आपका काम खत्म, अब जिस कंपनी में आपने पैसा लगाया है वह कंपनी आपकी और से सारा कमा करेगी। म्यूच्यूअल फण्ड एक निष्क्रिय (Passive) निवेश है।

आसान तरलता (Easy Liquidity) – म्यूच्यूअल फण्ड एक लिक्विडिटी फण्ड है। इसका मतलब होता है की अगर आप अपने पैसे को कही निवेश करते है और आपको अचानक पैसे की जरुरत हो गई तो ऐसे में आप उस निवेश किये गए पैसे को कितनी जल्दी से कैश कर सकते है। अगर आप प्रॉपर्टी, गोल्ड या किसी और assets में पैसे लगते है तो अपने पैसो को कैश करना कभी कभी मुश्किल हो जाता है और इसमें आपको नुक्सान भी होता है जबकि म्यूच्यूअल फण्ड में आप अपने पैसे को बड़ी आसानी से वापस निकाल भी सकते है जो की इसे एक बेहतर निवेश का विकल्प बनाता है।

कर से छूट (Exemption from tax) – म्यूच्यूअल फण्ड में आपको टैक्स पर से छूट मिलती है जबकि वही आपको शेयर बाजार से कोई शेयर खरीदने या बेचने के लिए टैक्स देना होता है तो यह भी एक म्यूच्यूअल फण्ड का फायदा है जिसके वजह से लोग म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करते है।

Mutual Fund के FAQ’s

क्यों हमे Mutual Fund में निवेश करना चाहिए?

म्यूच्यूअल फण्ड में पैसे निवेश करने से फायदे क्या होते वह तो मैं पहले ही ऊपर बता चुका हूँ लेकिन अगर आपके मन में यह सवाल आता है की मुझे क्यों म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करना चाहिए। तो मैं आपको बता दू की अपने पैसे को बचत खाते में रखने से आप अपना नुक्सान कर रहे है क्योंकि हर साल 4 से 6 प्रतिशत के बीच में inflation यानी मुद्रास्फीति होती है जिसे आसान शब्दों में महंगाई कहते है।
अगर आप अपने पैसे को कही भी निवेश न करके बस सेविंग अकाउंट में ही रख रहे हो तो इससे हर साल आपके पैसे का मूल्य (value) 4 से 6 प्रतिशत कम हो रही है तो इससे बचने के लिए और अपने पैसे को बढ़ाने के लिए आप म्यूच्यूअल फण्ड में निवश कर सकते हो।

किसे Mutual Fund में निवेश करना चाहिए?

म्यूच्यूअल फण्ड में कोई भी देश का आम नागरिक जो नौकरी या व्यवसाय से पैसे कामता है और अपनी आय में से निवेश करने के लिए पैसे बचाता है निवेश कर सकता है।

कब Mutual Fund में निवेश करना चाहिए?

म्यूच्यूअल फण्ड में आप कभी भी निवेश कर सकते है यह स्टॉक मार्किट नहीं है जहाँ पर आपको मार्केट को देखकर निवेश करना हो। इसमें आपको कई सारी सुविधाएं मिलती है जैसे आप ऑनलाइन भी म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कर सकते है और हर महीने किश्त की तरह आपके द्वारा ठहराई गई एक निश्चित राशि आपके बैंक अकाउंट से अपने आप कट जाएगी।

Mutual Fund में कम से कम कितने पैसे निवेश कर सकते है?

म्यूच्यूअल फण्ड में आप कम से कम 500 रुपए प्रतिमाह भी निवेश सकते है।

कितना Mutual Fund में निवेश करना चाहिए?

यह पूरी तरह से आप पर निर्भर करता है आप जितना चाहो उतना म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कर सकते हो लेकिन अगर आप पहली बार कर रहे हो तो मैं आपको सलाह दूंगा की आप कम से कम में शुरुआत करे। और अपने सारे पैसे को एक ही म्यूच्यूअल प्लान में न लगा दे। बल्कि अपनी जरुरत के अनुसार अलग अलग प्लान ले।

क्या मैं अपने Mutual Fund में लगाए पैसे को आपातकालीन स्थिति में निकाल सकता हूँ?

जी बिलकुल, अगर आपने अपने पैसा म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश किए हुआ है और अचानक आपको पैसे की जरूरत पड़ गई हो तो आप अपने पैसो को निकाल सकते है।

मैं कैसे Mutual Fund में लगाए हुए पैसे को निकाल सकता हूँ?

इसके लिए आपको म्यूच्यूअल फण्ड की यूनिट को रिडीम करना होगा। इसके लिए आप अपने एजेंट से बात कर सकते है वह आपको पूरी प्रक्रिया बता देगा। और आपको 3 से 7 दिन के भीतर आपके पैसे मिल जाएंगे।

क्या Mutual Fund केवल शेयरों में निवेश करते हैं?

नहीं, म्यूचुअल फंड केवल शेयरों में निवेश नहीं करते हैं। केवल equity funds शेयरों में निवेश करते हैं, जबकि debt funds और liquid funds मुश्किल से ही शेयर में निवेश करते हैं बल्कि कुछ debt funds ऐसे हैं जो शेयरों में निवेश ही नहीं करते हैं।

क्या Mutual Fund 100% सुरक्षित है?

100% सुरक्षित कुछ भी नहीं है। मार्किट और समय का कुछ भरोसा नहीं है यह कभी भी खराब हो सकती है तो 100% सुरक्षा आपको किसी भी जगह नहीं मिलती है। यहाँ तक की आपका सेविंग अकाउंट भी 100% सुरक्षित नहीं है क्योंकि अगर बैंक दिवालिया हो गया तो भी आपके पैसे डूबते है।
इसके लिए आप हमारे पिछले आर्टिकल सेविंग अकाउंट क्या होता है? और सेविंग अकाउंट कैसे काम करता है? को पढ़ सकते है

Mutual Fund में निवेश करते समय मुझे किन किन बातो का ध्यान रखना चाहिए?

म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करते समय सबसे पहले आपको उसके 5 से 10 साल के रिटर्न्स देखने चाहिए। की उस म्यूच्यूअल फण्ड के पिछले 5 से 10 साल के रिटर्न्स क्या है इसके बाद आपको उसके खर्चे की दर देखनी है अगर यह 1 से 2 प्रतिशत तो फिर तो ठीक है क्योंकि इससे वह अपने खर्चे निकालते है और अपने कर्मचारियों को सैलरी भी देते है।
इसके बाद आपको entry load और exit laod देखना है। इसका मतलब जब आप म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करते है तो शुरआत में कोई entry load तो नहीं कट रहा है आपके पैसे में से, इसके अलावा जब आप अपने म्यूच्यूअल फण्ड को बेच रहे है तो उसमें exit laod में तो आपके पैसे नहीं कट रहे है तो यह भी आपको जरूर देखना है। इसके अलावा आप money control वेबसाइट पर जाकर अपने लिए एक बढ़िया mutual funds को चुन सकते है।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है की आपको म्यूच्यूअल फण्ड पर हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा। और इसे पढ़ने के बाद आपके म्यूच्यूअल फण्ड को लेकर कई संदेह दूर हुए होंगे। अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करे। ताकि वह भी म्यूच्यूअल फण्ड की सही जानकारी प्राप्त कर सके और अगर अभी भी आपका म्यूच्यूअल फण्ड से सम्बन्धित कोई भी सवाल हो तो आप हमे निचे कमेंट करके पूछ सकते है।

Spread the love

Leave a Comment