RTGS Full Form क्या होती है? RTGS क्या होता है?

क्या आप RTGS Full Form जानना चाहते है और RTGS क्या होता है या RTGS कैसे काम करता है जानना चाहते है। अगर आप गूगल पर सर्च करके ऐसे ही सवालों के जवाब पाने के लिए हमारे ब्लॉग पर आए है तो आप बिलकुल ठीक जगह पर आए है।

इस आर्टिकल में मैं आपको बताऊंगा कि RTGS Full Form क्या होती है? और RTGS Full Form In Hindi क्या होती है? RTGS क्या होता है? इसके साथ RTGS काम कैसे करता है? और RTGS के फायदे क्या होते है इसके साथ आपको RTGS कि पूरी history भी बताऊंगा और यह भी बताऊंगा कि आप RTGS कैसे कर सकते है? तो बने रहिये इस मजेदार आरटीजीएस आर्टिकल के साथ:-

आरटीजीएस क्या होता है इसको समझने से पहले आपको RTGS Full Form क्या होती है यह पता होना चाहिए। क्योकि लोग आरटीजीएस के बारे में बात करते है लेकिन उन्हें RTGS कि Full Form ही पता नहीं होती है।

RTGS Full Form क्या होती है?

RTGS Full Form “Real Time Gross Settlement” होती है। आरटीजीएस सिस्टम इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर सिस्टम हैं जहां रियल टाइम पैसो का एक बैंक से दूसरे बैंक में transfer होता है। रियल टाइम में पैसे लेने वाले और पैसे देने वाले दोनों को थोडा भी समय इंतज़ार नही करना पड़ता है।

RTGS Full Form In Hindi

RTGS Full Form In Hindi “वास्तविक समय सकल निपटान” होती है जैसा इसका नाम है वैसा ही इसका काम भी है यह वास्तविक समय में धन का निपटान करता है।

RTGS क्या होता है?

RTGS एक ऐसी इलेक्ट्रॉनिक बैंकिंग सिस्टम है जिसमें पैसे का लेनदेन होता है RTGS का उपयोग पैसे को एक बैंक खाते से दूसरे बैंक खाते में स्थानांतरित करने के लिए किया जाता है। ठीक जैसा NEFT था उसी उसी तरह। लेकिन यह वास्तविक समय में पैसे का स्थानांतरण करता है जबकि NEFT थोडा समय लेता है।

rtgs full form

RTGS systems का उपयोग आम तौर पर उच्च-मूल्य वाले पैसे के लेनदेन के लिए किया जाता है, जिसके लिए तत्काल समाशोधन की आवश्यकता होती है। यानि अगर आप एक बड़ी पैसे की लेनदेन करते है तो ऐसे में RTGS का इस्तेमाल किया जाता है।

आमतौर पर RTGS का इस्तेमाल 2,00000 रुपए से ऊपर की राशि का लेनदेन करने के लिए किया जाता है।इलेक्ट्रॉनिक भुगतान प्रणाली पैसे के भौतिक अदला बदली पर आधारित नहीं है। यह बैंक A के खाते से राशि कम करता है और बैंक B के खाते में इस राशि को जोड़ता है।

RTGS कैसे काम करता है?

RTGS सिस्टम आमतौर पर किसी देश के केंद्रीय बैंक द्वारा संचालित किया जाता है क्योंकि इसे देश की अर्थव्यवस्था के लिए महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे के रूप में देखा जाता है।

अर्थशास्त्रियों का मानना है कि एक कुशल राष्ट्रीय भुगतान प्रणाली वस्तुओं और सेवाओं के आदान-प्रदान की लागत को कम करती है, और इंटरबैंक, धन और पूंजी बाजार के कामकाज के लिए अपरिहार्य है।

एक कमजोर भुगतान प्रणाली एक राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की स्थिरता और विकास क्षमता को गंभीर रूप से पीछे खींच सकती है, इसकी असफलताओं के परिणामस्वरूप वित्तीय संसाधनों का अकुशल उपयोग, एजेंटों के बीच असमान जोखिम-साझाकरण, प्रतिभागियों के लिए वास्तविक नुकसान और वित्तीय प्रणाली में विश्वास की हानि और धन का बहुत अधिक उपयोग हो सकता है।

RTGS कैसे करते है?

RTGS दो तरह से होते है online और offline:-

Online RTGS कैसे करते है?

  1. सबसे पहले आपको यूजर आईडी और पासवर्ड से खाते में लॉगिन करना है।
  2. फिर फंड ट्रांसफर में जाना है और add payee पर क्लिक करना है और payee को अपने खाते में add करना है जिसे आप पैसे ट्रांसफर करना चाहते है।
  3. इसमें आपको payee का नाम, खाता का नंबर, ifsc कोड, डालना है और add पर क्लिक करना है।
  4. Payee add हो जाने के बाद अब आपको इसे भुगतान करना है। इसके लिए आपको दुबारा फंड ट्रांसफर पर क्लिक करना है और payee को सेलेक्ट करना है।
  5. इसके बाद आपको राशि डालनी है जितनी आप ट्रांसफर करना चाहते है।
  6. इसके बाद पेमेंट मोड सेलेक्ट करना है और फिर RTGS पर क्लिक करना है।
  7. इसके बाद send पर क्लिक करना है।
  8. इसके बाद आपके फ़ोन पर एक otp आएगा उसे डाल कर आपको पैसे सेंड करने है।
  9. इसके बाद आपका पेमेंट उसी समय ट्रांसफर हो जाएगी।

Offline RTGS कैसे करते है?

  1. सबसे पहले आपको अपने बैंक में जाना है और RTGS के लिए फॉर्म लेना है।
  2. यह फॉर्म दो तरफ़ा होता है यानी आपको इसकी एक तरफ अपने बैंक की सारी जानकारी भरनी है वही इसके दूसरी तरफ आपको उस बैंक की जानकारी भरनी है जिस पर आप पैसे ट्रांसफर करना चाहते है।
  3. फॉर्म भरने के बाद आपको इसे सबमिट कर देना है।
  4. इसके बाद बैंक के कर्मचारी फॉर्म से सारी डिटेल अपने सिस्टम में भर देते है और अपने सिस्टम से RTGS कर देते है।

RTGS की Fess कितनी होती है?

2 से 5 लाख के बीच लेनदेन में 30 रुपए+सर्विस टैक्स लगता है

5 लाख से ऊपर लेनदेन में 55 रुपए+सर्विस टैक्स लगता है

RTGS के फायदे क्या होते है?

Instant Transfer – इसमें धन का लेनदेन रियल टाइम में होता है यानी जैसे ही आप पेमेंट सेंड करते है तो उसी समय पैसे आपके खाते से काट लिए जाएंगे और प्राप्तकर्ता के खाते में जोड़ दिए जायेंगे।

Safe and Secure – RTGS बिलकुल सुरक्षित होता है इसमें सुरक्षा का खास ध्यान रखा जाता है।

24/7 Working – RTGS साल में 365 दिन और 24 घंटे काम करता है यानी आप RTGS का इस्तेमाल छुट्टियों में भी कर सकते है। हलाकि यह सुविधा अब आपको NEFT में भी मिलती है।

Big Transactions – RTGS में आप बड़ी बड़ी लेनदेन कर सकते है इसे खासतौर से बड़ी लेनदेन के लिए ही बनाया गया है। अगर आप 2 लाख से बड़ी लेनदेन करते है आरटीजीएस एक बढ़िया विकल्प है।

RTGS की History क्या है?

सन 1985 तक, तीन केंद्रीय बैंकों ने RTGS System लागू किया था, जबकि 2005 के अंत तक, आरटीजीएस सिस्टम 90 केंद्रीय बैंकों द्वारा लागू किया गया था।

RTGS सिस्टम की विशेषताओं वाला पहला सिस्टम US Fedwire सिस्टम था जिसे 1970 में लॉन्च किया गया था। यह टेलीग्राफ के माध्यम से अमेरिकी federal reserve bank के बीच इलेक्ट्रॉनिक रूप से फंड ट्रांसफर करने के पिछले तरीके पर आधारित था।

सन 1984 में यूनाइटेड किंगडम और फ्रांस दोनों ने स्वतंत्र रूप से RTGS सिस्टम को विकसित किया। फरवरी 1984 में यूके प्रणाली को बैंकर्स क्लियरिंग हाउस द्वारा विकसित किया गया था और इसे CHAPS कहा जाता था। इसके अलावा फ्रांसीसी सिस्टम को SAGITTAIRE कहा जाता था।

इसके बाद अगले कुछ वर्षों में कई अन्य विकसित देशों ने भी इस सिस्टम को लॉन्च किया। इन प्रणालियों के संचालन और प्रौद्योगिकी में विविधता थी, देश-विशेष के रूप में वे आमतौर पर पिछली प्रक्रियाओं और प्रत्येक देश में उपयोग की जाने वाली प्रक्रियाओं पर आधारित थे।

सन 1990 के दशक में अंतरराष्ट्रीय वित्त संगठनों ने बड़े मूल्य वाले फंड ट्रांसफर सिस्टम के महत्व पर जोर दिया, जिसका उपयोग बैंक अपने स्वयं के खाते के साथ-साथ अपने ग्राहकों के लिए देश के वित्तीय बुनियादी ढांचे के एक महत्वपूर्ण हिस्से के रूप में इंटर बैंक ट्रांसफर को निपटाने के लिए करते हैं।

इसके बाद सन 1997 तक दस देशों के समूह के बाहर और साथ ही कई देशों ने बड़े मूल्य वाले धन हस्तांतरण के लिए real-time gross settlement सिस्टम को शुरू किया था।

इसी के साथ लगभग सभी G-10 देशों में 1997 के दौरान RTGS सिस्टम चालू करने की योजना थी और कई अन्य देश भी इस तरह के सिस्टम को शुरू करने पर विचार कर रहे थे।

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है की आपको RTGS Full Form क्या होती है पर लिखा गया यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा और आपको rtgs full form और आरटीजीएस से सम्बंधित सारी जानकारी अच्छी लगी होगी। अगर फिर भी आपका आरटीजीएस से सम्बंधित कोई भी सवाल हो तो आप हमे निचे कमेंट करके पूछ सकते है।

यह भी पढ़े

NEFT Full Form क्या होती है? NEFT क्या होता है?

IMPS Full Form क्या होती है? IMPS क्या होता है?

UPI Full Form क्या होती है? UPI क्या होता है?

Spread the love

Leave a Comment